Home सिविल सर्विसेज IPS रवि मोहन सैनी : 19 साल पहलें KBC में जीतें थे...

IPS रवि मोहन सैनी : 19 साल पहलें KBC में जीतें थे 1 करोड़ रुपए, अब IPS बन कर रहे देश सेवा

सदी के महानायक अमिताभ बच्चन के गेम शो ‘कौन बनेगा करोड़पति’ पिछलें 20 वर्षों से कई लोगों की ज़िंदगी में अहम बदलाव ला चुका है. इस गेम शो से न केवल उन्हें करोड़ों रुपए जीतने का अवसर मिला बल्कि उसके साथ ही उन्हें शौहरत भी मिली. कर्मवीर एपिसोड के साथ ही कई स्पेशल लोगों को इस शो में बुलाया जाता हैं जिससे देश और दुनिया को कई दिलचस्प कहानियां सुनने को मिलती हैं.

शुरुआती सफलता के बाद 2001 में केबीसी ने केबीसी जूनियर के नाम से स्पेशल संस्करण शुरू किया था, जिसमें देश के बच्चों को गेम sho खेलने की इजाज़त दी. इस शो में 14 साल के एक बच्चे ने सभी 15 सवालों के सही जवाब देकर एक करोड़ की ईनामी राशि जीती थी. इस बात को दो दशक से अधिक बीत चुके हैं और अब वो बच्चा आईपीएस बनकर पहली पोस्टिंग ले चुका है. इस आईपीएस अधिकारी का नाम हैं रवि मोहन सैनी.

काम के दौरान IPS सैनी

रवि मोहन सैनी की उम्र फिलहाल करीब 33 साल है। उन्होंने गुजरात के पोरबंदर में बतौर एसपी ज्वाइन किया है।

इंडियन एक्सप्रेस से बातचीत में सैनी ने बताया कि उन्होंने महात्मा गांधी मेडिकल कॉलेज जयपुर से एमबीबीएस किया. एमबीबीएस के बाद इंटर्नशिप के दौरान उनका चयन सिविल सर्विसेज़ में हो गया. वो अपने पिता को अपना आदर्श मानते है और उनके पदचिन्हों पर चलते हुए आईपीएस सर्विसेज़ को चुना. आपको बता दे कि उनके पिता नेवी में थे।

रवि स्कूल से ही टॉपर रहे हैं. मेडिकल की पढ़ाई के बाद उन्होंने सेल्फ स्टडी कर 2013 में यूपीएससी का एग्जाम क्लियर किया. इससे पहले सन् 2012 में भी उनका सेलेक्शन IP टेलीकम्यूनिकेशन में हुआ था। जहां उन्होंने 8 महीने की ट्रेनिंग भी की.

ड्यूटी के दौरान पेट्रोलिंग करते आईपीएस सैनी

एक इंटरव्यू के दौरान रवि ने बताया कि मेडिकल की पढ़ाई के दौरान दोस्त अक्सर उन्हें सिविल सर्विसेज की तैयारी करने की सलाह देते थे.

केबीसी में जीते हुए पैसों से रवि ने अपने परिवार को एक कार गिफ्ट की थी. साथ ही कुछ पैसे अपनी पढ़ाई पर भी खर्च किए.

आपको बता दे कि रवि के पिता एम एल सोनी रिटायर्ड नेवी ऑफिसर हैं. साथ ही उनके परिवार में एक बड़े भाई और बहन भी हैं. बड़े भाई शशी मोहन इंजीनियर हैं तो बहन शमा सैनी टीचर हैं.

(मीडिया रिपोर्ट्स पर आधारित)

Avatar
News Deskhttps://www.bepositiveindia.in
युवाओं का समूह जो समाज में सकारात्मक खबरों को मंच प्रदान कर रहे हैं. भारत के गांव, क़स्बे एवं छोटे शहरों से लेकर मेट्रो सिटीज से बदलाव की कहानियां लाने के लिए प्रतिबद्ध हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Must Read

किसान के बेटे अमित ने किया राजस्थान बोर्ड में टॉप, एम्स में बनना चाहता है न्यूरोलॉजिस्ट !

मेहनत करने वालों की हार नही होती है यह पंक्तियां राजस्थान बोर्ड के बारहवीं विज्ञान वर्ग में टॉप करने...

10 रुपए में पर्ची, 20 में भर्ती, 3 दिन नि:शुल्क भोजन देने वाला जन सेवा अस्पताल बना नज़ीर

लॉक डाउन के दौरान सेवा कार्यों को अनूठे अंदाज़ में अंजाम देकर जीता सबका दिल बीते दिनों...

पढाई छोड़कर बने गांव के प्रधान, सामूहिक भागीदारी से बदल रहे है गांव की तस्वीर !

माना कि अंधेरा घना है, मगर दिया जलाना कहां मना है । यह पंक्तियाँ उत्तरप्रदेश के एक प्रधान पर...

बच्चों को भीख मांगता देख शुरू की ‘पहल’, शिक्षा के जरिये स्लम्स के बच्चों का जीवन बदल रहे है युवा

शिकायत का हिस्सा तो हम हर बार बनते है, चलिए एक बार निवारण का हिस्सा बनते है. यह पंक्तियां...

आयुर्वेदनामा : शेर के खुले मुंह जैसे सफेद फूलों वाला अड़ूसा : एक कारगर औषधि

आयुर्वेदनामा की इस कड़ी में हम बात करेंगे अड़ूसा के बारे में जो कि एक महत्वपूर्ण औषधि है। सम्पूर्ण भारत में इसके...